Search
Close this search box.

Live TV

Search
Close this search box.

जेब में पिस्टल रखकर निकलते थे, गैर-मुस्लिम दिखते ही मार देते थे गोली; कश्मीर में 2 हाइब्रिड आतंकी गिरफ्तार| Hindi News, देश

[adsforwp id="60"]

Jammu Kashmir: जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में हिंदुओं की लगातार हो रही टारगेट किलिंग को रोकने में पुलिस को गुरुवार को बड़ी कामयाबी मिली. पुलिस ने गुरुवार को सोपोर जिले से 2 हाइब्रिड आतंकियों (Hybrid Terrorist) को अरेस्ट किया. दोनों आतंकी जेब में पिस्टल लेकर  घूमते थे और जहां पर भी उन्हें गैर-मुस्लिम दिख जाते, उन्हें गोली मारकर कत्ल करने से परहेज नहीं करते. पुलिस ने दोनों आतंकियों के पास से पिस्टल, गोलियां और दूसरे हथियार बरामद किए हैं.

पुलिस के नाके से भागने लगे संदिग्ध

पुलिस के मुताबिक गुरुवार शाम को पुलिस टीम गुरसीर इलाके में नाका लगाकर चेकिंग कर रही थी. सेना की आतंक रोधी 52 RR यूनिट के जवान भी हथियारों के साथ नाके पर तैनात थे. तभी पुलिस टीम को 2 लोग संदेहास्पद हालात में आते दिखाई दिए. जवानों ने उन्हें रुकने के लिए कहा, लेकिन वे भागने लगे. शक होने पर पुलिस और सेना के जवानों ने घेराबंदी करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया. तलाशी लेने पर उनके पास से 2 पिस्टल, 5 गोलियां और 2 भरी हुई मैगजीन बरामद हुई. 

लश्कर ए तैयबा के सक्रिय आतंकी थे

जम्मू कश्मीर पुलिस ने अपने बयान में बताया कि दोनों आतंकियों की पहचान फैजान अहमद पॉल निवासी शोपियां और मुजम्मिल राशिद मीर निवासी पुलवामा के रूप में हुई है. दोनों लोग आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के मुखौटे द रेजिस्टेंस फ्रंट के सक्रिय सदस्य थे. पुलिस के मुताबिक दोनों हाइब्रिड आतंकी (Hybrid Terrorist) हैं. वे जेब में भरी पिस्टल रखकर साधारण व्यक्ति के रूप में काम धंधे पर निकलते थे. रास्ते में कहीं भी गैर-मुस्लिम या मजदूर दिखाई देने पर उसकी हत्या कर चुपचाप वहां से निकल जाते थे. उनकी गिरफ्तारी से टारगेट किलिंग की घटनाओं पर अंकुश लगने की उम्मीद जताई जा रही है. 

एक महीने में हुई टारगेट किलिंग की कई घटनाएं

बताते चलें कि कश्मीर घाटी (Jammu Kashmir) में आतंकियों ने एक के बाद एक टारगेट किलिंग की कई घटनाएं की हैं. आतंकियों ने 12 मई को राजस्व विभाग में काम करने वाले राहुल भट्ट को बडगाम के तहसीलदार ऑफिस में घुसकर मार दिया था. इसके बाद 31 मई को कुलगाम जिले में स्कूल में घुसकर हिंदू टीजर रजनी बाला की हत्या की. इसके बाद 2 जून को कुलगाम में बैंक मैनेजर विजय कुमार की की हत्या की. टारगेट किलिंग की इन घटनाओं के बाद कई सारे कश्मीरी पंडित घाटी छोड़कर जम्मू से निकलने को मजबूर हो गए थे. 

LIVE TV

Source link

Leave a Comment

[adsforwp id="47"]
What does "money" mean to you?
  • Add your answer